Meerabai Bhajan

अब तो निभायां सरेगी – Ab to Nibhaya Saregi

अब तो निभायां सरेगी – Ab to Nibhaya Saregi  Mp3 download

अब तो निभायां सरेगी बांह गहे की लाज।

समरथ शरण तुम्हारी सैयां सरब सुधारण काज॥

Ab to Nibhaya Saregi lyrics PDF

अब तो निभायां सरेगी बांह गहे की लाज।

समरथ शरण तुम्हारी सैयां सरब सुधारण काज॥

 भवसागर संसार अपरबल जामे तुम हो जहाज।

गिरधारां आधार जगत गुरु तुम बिन होय अकाज॥

 जुग जुग भीर हरी भगतन की दीनी मोक्ष समाज।

मीरा शरण गही चरणन की लाज रखो महाराज॥

Trending Now