Aarti Sangrah

भागवत भगवान आरती भक्तो को भवसिंधु से तारती – Bhagwat Bhagwan Aarti

भागवत भगवान आरती – Bhagwat Bhagwan aarti Mp3 Download

भागवत भगवान की है आरती

भक्तो को भवसिंधु से तारती

ये अमर ग्रन्थ ये मुक्ति पन्थ का द्वार दिखने वाला 

प्रभु भक्ति जगाने वाला

Bhagwat Bhagwan aarti lyrics PDF

ये हरी पुराण है अति महान पूजे इसे नित भारतीय

ये पंचम वेद निराला

नवज्योति जगाने वाला

हरि नाम यही हरि धाम यही

जग की मंगल की आरती

पापियों को पाप से है तारती 

ये शान्तिगीत पावन पुनीत

पापों को मिटाने वाला.

हरि दर्स कराने वाला

है सुख करनी, है दुःख हरिनी

श्री मधुसूदन की आरती

पापियों को पाप से है तारती . भागवत 

ये मधुर बोल, जग फ़न्द खोल

सन्मार्ग बताने वाला

बिगड़ी को बनाने वाला

श्री राम यही, घनश्याम यही

प्रभु के महिमा की आरती

पापियों को पाप से है तारती

भागवत भगवान की है आरती

पापियों को पाप से है तारती

Trending Now