भोले नाथ से निराला कोई और नहीं

99

भोले नाथ से निराला कोई और नहीं (Bhole Nath Se Nirala Koi Aur Nhi)

भोले नाथ से निराला, गौरीनाथ से निराला, कोई और नहीं |

ऐसा बिगड़ी बनाने वाला, कोई और नहीं ||

उन का डमरू डम डम बोले, अगम निगम के भेद खोले |

ऐसा भक्तो का रखवाला कोई और नहीं ||

 काया जब जब करवट बदले, पाप चमकते अगले पिछले |

ऐसा जोत जगाने वाला कोई और नहीं ||

तुमने जग का कष्ट मिटाया, मुझ को स्वामी क्यों बिसराया |

अब तो मुझे बचाने वाला कोई और नहीं ||

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here