Damn Lyrics in Hindi – Raftaar, Krsna

Damn Lyrics in Hindi from the album Mr. Nair, sung by Raftaar, Krsna. The song is written by Raftaar and music created by Raftaar. Music Label Zee Music Company.

Song: Damn Lyrics
Album: Mr. Nair
Singer: Raftaar, Krsna
Lyrics: Raftaar, Kr$Na
Music: Raftaar
Label: Zee Music Company

Damn Lyrics in Hindi

येह येह..

[quads id=2]

येह
कभी कभी मुझे लगे
मेरे पीछे एक साया
जो आया है मुझे बताने की
वो आगे ज्यादा जो चाटे
जमाने की
लत बड़ी लगी जिन्हें औरों का खाने की
हाँ.. कितना ही खा लेंगे हां
कितना बचा लेंगे हां (या या)

भागे जो बाबरची इनके
तो खुद का बना लेंगे क्या
खुद को संभालेंगे क्या
ये कर्मा मिटायेंगे हां (हाँ हाँ)
खुद जो है घर पड़े
हमकों वो घर पे बिठा लेंगे क्या

पर मुझे क्या मुझे क्या (हां हाँ)
मैं किसी की नही सुनता (हां हाँ)
मुझे पूरे करने है अरमान घर के
और सपने जो मैं बुनता

काफी दबी पड़ी मेरे दिल में है बातें
दिल से ना निकले वो studio की वो रातें
आयी गयी जाने कितनी है बरसातें
जो पहले मेरे भाई थे वो
अब भी मेरे साथ है येह

आंखें मिलाओगे ना
या आंखें चुराओगे हाँ (हाँ हाँ)
सबसे बनाते हो बातें
पर खुद को बना लोगे क्या

क्योंकि मैं देता नही Damn
क्योंकि मैं देता नही Damn
या या

क्योंकि मैं देता नही Damn
क्योंकि मैं देता नही Damn
या या

पर अब मैं देता नही Damn
हाँ अब मैं देता नही Damn
येह येह

पर अब मैं देता नही Damn
हाँ अब मैं देता नही Damn

क्योंकि मैं देता नही Damn
क्योंकि मैं देता नही Damn
I Don’t Give A Damn

क्योंकि मैं देता नही Damn
क्योंकि मैं देता नही Damn
I Don’t Give A Damn

पर अब मैं देता नही Damn
हाँ अब मैं देता नही Damn
येह येह
पर अब मैं देता नही Damn
हाँ अब मैं देता नही Damn

समझ नही पाते (समझ नही पाते)
मुझे ये समझ नही पाते
करते ये बस एक ही बातें
पर चश्में लगा के भी नज़र नही आते
मैं तो देता नही Damn
करने में खत्म मैं लेता नही टाइम
साथ में लाया मैं ये वाली गैंग
कलमकार में एक आदि फम

रखूं मैं पास
करीब जो मेरे है खास
बाकी ना करता बर्दाश
गानों में छोड़ू मैं लाश अंतिम अरदाश

पैसा है पास अब मेरी ज़ुबान का
इनको समझ नही आता
आज जो कला है खुद ही तो करा है
किसी का नमक नही खाता
कहना है जो कह दो (केह दो)
मिलता नही चंगे से चंगो
हटर है सैकड़ों पर मैं ठंकफूल

करूँ मैं हैंडल शुक्रिया फैंस को
बनते है आज फैंस ब्रो (फैंस ब्रो)
बनते है आज फैंस ब्रो (फैंस ब्रो)
रैप जैसे बंद हो
मुस्कुते जाते है बैंकाक

क्योंकि मैं देता नही Damn
क्योंकि मैं देता नही Damn
(देता नही Damn)

क्योंकि मैं देता नही Damn
क्योंकि मैं देता नही Damn
(देता नही Damn)

हांअब मैं देता नही Damn
हाँ अब मैं देता नही Damn
(देता नही दमन)

पर अब मैं देता नही Damn
ना अब मैं देता नही Damn
येह येह

क्योंकि मैं देता नही Damn
क्योंकि मैं देता नही Damn
I Don’t Give A Damn

क्योंकि मैं देता नही Damn
क्योंकि मैं देता नही Damn
I Don’t Give A Damn

पर अब मैं देता नही Damn
हाँ अब मैं देता नही Damn
येह येह

पर अब मैं देता नही Damn
हाँ अब मैं देता नही Damn

घर पे लंबी गाड़ी
घर पे बक्से में है रोली
रहता अपने ट्रिप में
पर मैं खाता नही मौली
स्टूडियो है घर में
आफिस दो सौ मीटर दूर
बोली मेरी मीठी
पर मैं हाथों से मज़दूर

ना ना (ना ना)
मेरे आगे ना डोरे चला
ना ना (ना ना)
ले ले ये फ्री की सलाह
हां हाँ (हां हाँ )
मानेगा मेरी कहा
हां हाँ सबको भूला के
जा दुश्मन को गले लगा

Being An Artist, Being Me
That Was My Best Excuse For Being Crazy

Lyricsbug

Lyricsbug.in is platform for Devotional music lovers where you can get Latest Krishna Bhajan, Shiv Bhajan, Hanuman Bhajan, Aarti & Chalisa lyrics with Many More Hindu God & Goddess Bhajans in vast range .

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *