Shiv Bhajan

जीवन के भव सागर में शिव नैया लगाए पार जटाधारी शंकर जी …

हो भोले महिमा तेरी अपार – Ho Bhole Mahima Teri Apar Mp3 Download 

जीवन के भव सागर में शिव नैया लगाए पार
जटाधारी शंकर जी से जीवन का उद्धार

हो भोले महिमा तेरी अपार – 3
ॐ नमः शिवाय – ४

सेवा करू महादेव की मै मनवांछित फल पाऊ
सोमवार को प्रदोष को हर ध्यान मै धरती जाऊ
रुद्ररूप तुम हे विश्वेशर शीश यही नवाऊ
नीलकंठ यह रूप मनोहर गुण मै तुम्हारे गाऊ
हे त्रिपुरारी कृपा तुम्हारी यही मेरा आधार

हो भोले महिमा तेरी अपार – 3
ॐ नमः शिवाय – ४

शिव शंकर की कृपा दृष्टि से जागे सबके भाग
जीवन के हर एक पड़ाव पर छिड़े सुरीले राग
आशीर्वाद से महादेव के स्त्री को मिले सुहाग
रंगगंध फूलो मै दिखता खिलते कली पराग
हे भंडारी दया तुम्हारी कभी ना हो अंधकार

हो भोले महिमा तेरी अपार – 3
ॐ नमः शिवाय – ४

जीवन के भव सागर में शिव नैया लगाए पार
जटाधारी शंकर जी से जीवन का उद्धार
हो भोले महिमा तेरी अपार – 3
ॐ नमः शिवाय – ४