जय गोविंदा गोपाला, मन मोहन घनश्याम कन्हैया

51

जय गोविंदा जय गोपाला – Jai Govinda Jai Gopala

Jai Govinda Jai Gopala

जय गोविंदा गोपाला
जय गोविंदा गोपाला
मन मोहन घनश्याम कन्हैया
मुरलीधर नंद के लाला
जय गोविंदा गोपाला
जय गोविंदा गोपाला

गागर में तु सागर मे तू, तु पाताल तू ही धरती
मन में वन में नील गगन में तेरी ज्योति जला करती
मेरे मन मंदिर में स्वामी
मेरे मन मंदिर में स्वामी
तेरा ही है उजियाला

जय गोविंदा गोपाला
जय गोविंदा गोपाला
मन मोहन घनश्याम कन्हैया
मुरलीधर नंद के लाला
जय गोविंदा गोपाला
जय गोविंदा गोपाला

जिसका कोई नही है जग में
उसका मित्र कन्हैया तु
लाज बचइया रास रचिया काला नाग नाचिया तु
राजा हो या दीन भिखारी
राजा हो या दीन भिखारी
सबका तू ही रखवाला

जय गोविंदा गोपाला
जय गोविंदा गोपाला
मन मोहन घनश्याम कन्हैया
मुरलीधर नंद के लाला
जय गोविंदा गोपाला
जय गोविंदा गोपाला
जय गोविंदा गोपाला
जय गोविंदा गोपाला
जय गोविंदा गोपाला
जय गोविंदा गोपाला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here