जय हो भोलेनाथ जय हो भंडारी

53

जय हो भोलेनाथ जय हो भंडारी Shiv Bhajan Download Mp3

Jai Ho Bhole Nath – Shiv Bhajan Lyrics

जय हो भोलेनाथ जय हो भंडारी

जय हो कैलाश पति जय त्रिपुरारी

दुखियो के तूने है काज सवाँरे

जो भी है आया भगवन तेरे द्वारे

कर दिया कल्याण पिता कल्याण कारी

जय हो भोलेनाथ जय हो भंडारी

तेरी जटाओ मैं गंगा का पानी

गंगा के पानी मैं शक्ति रूहानी

मस्तक का चंद्रमा पीड़ा हरे सारी

 जय हो भोलेनाथ जय हो भंडारी

तन पे बभूत रमे नागो की माला

दो नैनो में मस्ती तीसरी में ज्वाला

दर्शनों की भीख मांगे तेरे भिखारी

जय हो भोलेनाथ जय हो भंडारी

हंस हंस के धरती का विष पीने वाले

महादेव नीलकंठ जगसे निराले

सृष्टि यह गाये महिमा तुम्हारी

जय हो भोलेनाथ जय हो भंडारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here