जय जानकीनाथ

जय जानकीनाथ भजन-Jai Janki Nath Bhajan In Hindi Mp3

 

Jai Janki Nath Bhajan Lyrics

जै जानकी नाथ

जै जानकी नाथ प्रभु जै सिया रघुनाथा |

दोउ कर जोड्या विनऊं प्रभु तेरी मेरी सुन बाता | |जै | |1 | |

तुम रघुनाथ हमारे प्राण , पिता माता |

तुम हो सजन संगाती , भक्ति मुक्ति दाता | |जै | |2 | |

चौरासी प्रभु फन्द छुडावो मेटो यम याता |

निशि – दिह प्रभु मोहे राखो, अपने संग साथा | |जै | |3 | |

सीता -राम लक्ष्मण , भरत-शत्रुघ्न संग चारो श्राता |

जिग्मिग ज्योति विराजत ,सेभा अति पाता | |जै | |4 | |

हनुमत नाद बजावत , नेवर टिमकाता |

सुवरण मिल आरती करत कोशल्या माता | | जै .स | |5 | |

कोट -मुकुट कर धनुष विराजत शोभा दिखलाता |

मनीराम दर्शन कर पल पल बलि जाता | |जै .| |6 | |

Leave a Comment