मंगल मूरति मारुती नंदन – Mangal Murti Maruti Nandan

130

मंगल मूरति मारुती नंदन – Mangal Murti Maruti Nandan

Mangal Murti Maruti Nandan Lyrics

मंगल मूरति मारुती नंदन

सकल अमंगल मूल निकंदन

पवन तनय संतन हितकारी
हृदय विराजत अवध बिहारी

मात पिता गुरु गणपत शारद
शिवा समेत शभु सुक नारद

चरण बंदी बिनवौ सब काहू
देहु राम पद नेह निबाहू

बन्दहुँ राम लखन बैदेही
यह तुलसी के प्रमा सनेही

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here