राधे बृषभानु किशोरी – Radhay Varsbhanu Kisori Bhajan

बृष भानु लली है बहुत बली,
बिगड़ी तकदीर बदल देगी,
वो रीज गई तो किस्मत की सारी तस्वीर बदल देगी,

भर दे मेरी आज तिजोरी,
राधे बृषभानु किशोरी,
मेरे धन की टेर सुनो री,
राधे बृषभानु किशोरी,

तू तो करुणा की मूरत है मैं मांगू बड़ी जरूरत है,
बरसाने वाली बरसा दे जो किरपा वाला अमिरत है,
अब देर जरा न करो री
राधे बृषभानु किशोरी,

भगति भर दो मेरी झोली में,
मीठी भाषा मेरी बोली में,
वृन्दावन या बरसाने में रहु रशिक जनो की टोली में,
कोई ऐसा यत्न करो री राधे वृषवाणु किशोरी,
राधे बृषभानु किशोरी,

व्यापार मेरा तेरे द्वारे से परिवार है तेरे सहारे से
चलती है दया नन्द की गाडी मेरी लाडो तेरे इशारे से,
मेरे सिर पे भी हाथ धरो री राधे बृषवाणु किशोरी,
राधे बृषभानु किशोरी,

Please Share On

Leave a Comment