श्री राधाजी की आरती – Radha ji ki Aarti

श्री राधाजी आरती (Radha ji ki Aarti Mp3)

Radha ji ki Aarti – राधा अष्टमी पर राधा जी की पूजा को विशेष महत्व दिया जाता है। इस व्रत को करने से मनुष्य के जीवन की सभी इच्छाएं पूर्ण होती है। सिर्फ राधाअष्टमी की कथा सुनने और पूजा के बाद आरती करने से ही व्रत करने वाले व्यक्ति को धन, सुख समृद्धि, परिवारिक सुख और मान- सम्मान की प्राप्ति हो जाती है।

राधाजी की आरती – Radha ji Aarti

आरती श्री वृषभानुसुता की।

मन्जु मूर्ति मोहन ममता की। आरती ..

त्रिविध तापयुत संसृति नाशिनि,

विमल विवेक विराग विकासिनि,

पावन प्रभु पद प्रीति प्रकाशिनि,

सुन्दरतम छवि सुन्दतरा की॥ आरती ..

मुनि मनमोहन मोहन मोहनि,

मधुर मनोहर मूरति सोहनि,

अविरल प्रेम अमित रस दोहनि,

[quads id = “3”]

प्रिय अति सदा सखी ललिता की॥ आरती ..

संतत सेव्य संत मुनिजन की,

आकर अमित दिव्यगुन गन की,

आकर्षिणी कृष्ण तन मन की,

अति अमूल्य सम्पति समता की॥ आरती ..

कृष्णात्मिका, कृष्ण सहचारिणि,

चिन्मयवृन्दा विपिन विहारिणि,

जगजननि जग दु:ख निवारिणि,

आदि अनादि शक्ति विभुता की॥ आरती ..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *