श्री रामचन्द्र जी की आरती – Ramchandra ji ki Aarti

 श्री रामचन्द्र जी आरती (Shri Ram Chandra Kripalu Bhajman Mp3 Download)

Shri Ram Chandra Kripalu Bhajman lyrics – भगवान राम की पूजा करने से (Ram ji ki Aarti) उनकी कृपा तो मिलती ही है, साथ ही उनके भक्त हनुमान जी का भी आशीर्वाद आप पर बना रहता है. श्री राम के नाम का जप करने से (Ram ji ki Aarti Lyrics) उनके परम भक्त हनुमान जी आसानी से खुश हो जाते हैं. इसलिए बजरंगबली की पूजा करने से पहले रघुनंदन राम की यह स्तुति गाएं और उनकी कृपा-दृष्टि‍ पाएं –

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन – Shri Ram Chandra Kripalu Bhajman lyrics

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन हरण भव भय दारुणं |

नव कंजलोचन, कंज – मुख, कर – कंज, पद कंजारुणं ||

कंन्दर्प अगणित अमित छबि नवनील – नीरद सुन्दरं |

पटपीत मानहु तडित रूचि शुचि नौमि जनक सुतवरं ||

भजु दीनबंधु दिनेश दानव – दैत्यवंश – निकन्दंन |

रधुनन्द आनंदकंद कौशलचन्द दशरथ – नन्दनं ||

सिरा मुकुट कुंडल तिलक चारू उदारु अंग विभूषां |

आजानुभुज शर – चाप – धर सग्राम – जित – खरदूषणमं ||

इति वदति तुलसीदास शंकर – शेष – मुनि – मन रंजनं |

मम ह्रदय – कंच निवास कुरु कामादि खलदल – गंजनं ||

मनु जाहिं राचेउ मिलहि सो बरु सहज सुन्दर साँवरो |

करुना निधान सुजान सिलु सनेहु जानत रावरो ||

एही भाँति गौरि असीस सुनि सिया सहित हियँ हरषीं अली |

तुलसी भवानिहि पूजी पुनिपुनि मुदित मन मन्दिरचली ||

Leave a Comment